कोस्टा रिका की यूनिवर्सिटी ने VP वेंकैया नायडू को डॉक्टरेट की उपाधि से सम्मानित किया

0
88

उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू को कोस्टा रिका की मीराडोर यूनिवर्सिटी फॉर पीस ने डॉक्टरेट की उपाधि से सम्मानित किया। इस अवसर पर उपराष्ट्रपति ने कहा कि आज इस अवसर पर आप सबके मध्य आकर प्रसन्नता का अनुभव कर रहा हूं। यूनिवर्सिटी आफ पीस द्वारा ऑनोरिस कॉसा उपाधि से सम्मानित किया जाना, मेरे लिए विनम्र कर देने वाला अवसर है। वेंकैया वायडू ने कहा कि ये सम्मान निजी तौर पर मेरे लिए नहीं बल्कि मेरे देश का है। आप उस राष्ट्र को, उस सभ्यता को, उस संस्कृति को सम्मानित कर रहे हैं जो अनादि काल से विश्व को शांति का संदेश देती रही है। जिसने विश्व को अहिंसा की असीम शक्ति से परिचित कराया।

उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने कहा कि मुझे गर्व है कि में उस देश का नागरिक हूं जिसने गांधी जी जैसे महान शांति दूत को जन्म दिया, शांति और अहिंसा के जिनके आदर्शों ने पिछली सदी में विश्व के अनेक जन नायकों और बुद्धिजीवियों को प्रेरणा दी। उन्होंने कहा कि यह मेरा सौभाग्य है कि मैं गांधी जी की 150 वें जन्मजयंती वर्ष में इस पुरस्कार को विनयपूर्वक स्वीकार कर रहा हूं। एक महान शांतिदूत जिसका अमर संदेश आपके कैंपस के पीस गार्डन में लिखा हुआ है।

उपराष्ट्रपति ने कहा कि आज विश्व को ऐसा दर्शन चाहिए जिससे विश्व समुदाय के देश शांति को अभीष्ट उद्देश्य मान कर, साझा प्रयास करें। यदि विश्व में शांति स्थापित करनी है तो विभाजनकारी, विघटनकारी, विद्वेषपूर्ण विश्वदर्शन को आमूलचूल बदलना होगा। उन्होंने जोर देते हुए कहा कि युद्ध और शांति की शक्तियों के बीच, विद्वेष और विकास की शक्तियों के बीच, कट्टर धर्मांधता और सहिष्णुता और समन्वयवादी शातियों के बीच, तानाशाहों और करुणामई कल्याणकारी शक्तियों के बीच सदियों से जारी संघर्ष में भी शांति की सतत खोज जारी रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here