सेना में शामिल होने के लिए दिखा कश्मीरी युवकों का जोश

0
105

एक ओर कुछ कश्मीरी देशद्रोही गतविधियों में लिप्त होकर दुश्मन मुल्क पाकिस्तान का गुणगान करते हैं तो दूसरी ओर कुछ ऐसे नजारे देखने को मिलते हैं, जिससे स्पष्ट होता है कि अब कश्मीर नौजवान कश्मीरियत, जम्हूरियत और इंसानियत के साथ-साथ राष्ट्रवाद पर भी भरोसा करने लगा है। ऐसी ही कुछ तस्वीरें श्रीनगर से सामने आई है, जहां सेना में चंद पदों के लिए भर्ती होना था, लेकिन भारी संख्या में कश्मीरी युवाओं ने भर्ती प्रक्रिया में शामिल होकर मुल्क के दुश्मनों के मुंह पर करारा तमाचा जड़ा है।

बता दें, जम्मू-कश्मीर लाइफ इंफेंट्री भर्ती में सैकड़ों की संख्या में कश्मीरी युवक शरीर पर भारतीय सेना की वर्दी पहनने की तमन्ना और दिल में मां भारती की सेवा के लक्ष्य को हासिल करने के लिए पहुंचे और जोरआजमाईश की। बता दें, यह भर्ती पूर्व सैनिकों के रिश्तेदारों के लिए हो रही है। लेकिन बड़ी संख्या में भारत के युवाओं ने पहुंचकर कश्मीर में रह रहे गद्दारों को आईना दिखा दिया कि अब कश्मीर का युवा अपने हाथों में पत्थर नहीं कंप्यूटर चाहता है। कश्मीर का युवा अब हाथों में बंदूक देश की सुरक्षा के लिए उठाएगा न कि आतंकियों की मंशा पूरा करने के लिए।

कश्मीर में हो रहा राष्ट्रवाद का उदय

पिछले कई महीनों से देखने को मिला है कि जब भी घाटी में सेना की भर्ती आयोजित की गई तो बड़ी संख्या में युवा पहुंचे और कईयों ने तो वर्दी को हासिल भी किया। गौरतलब है, घाटी में ऐसी तमाम ताकते हैं, जो घाटी के युवाओं को छवि को लगातार बद से बदतर करने की कोशिश करती रहती हैं, जिससे वहां के युवाओं का अन्य जगहों पर अपमान हो और वे बदले की आग में सुलगे, जिससे कश्मीर जलता रहे और आतंक के आकाओं की दुकान चलती रहे, लेकिन अब ऐसा नहीं होने  वाला है, क्योंकि अब कश्मीरी तो बंदूक उठाएगा, लेकिन मां भारती की रक्षा के लिए न कि आतंकियों के नापाक मंसूबों को कामयाब करने के लिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here