गोरखपुरः जान हथेली पर रखकर जर्जर स्कूल में पढ़ते हैं 65 बच्चे

0
2216

गोरखपुर से अभयदीप की रिपोर्ट – सहजनवां के पाली ब्लॉक के गोहटा गांव स्थित प्राइमरी स्कूल में पढ़ने वाले बच्चों की जान खतरे हैं। क्योंकि स्कूल की जर्जर भवन कब गिर जाए किसी को पता नहीं। बारिश की वजह से स्कूल के छत के प्लास्टर टूट कर गिर रहे हैं। 17 जुलाई को भी छत के प्लास्टर टूट कर गिरे। वो तो भला है कि उस वक्त स्कूल बंद था, बच्चे स्कूल में नही थे, वरना कुछ बच्चे घायल भी हो सकते थे।

स्कूल भवन पर पेड़ उग गए हैं, स्कूल की देखभाल करने वाला कोई नहीं है। कुल मिलाकर यूं कहे कि अधिकारियों और प्रशासन की लापरवाही की वजह से यह स्कूल किसी भी वक्त हादसे को दस्तक दे सकता है।

हमारे रिपोर्टर अभयदीप ने घटनास्थल का दौरा किया और बताया कि यहां स्कूल की बिल्डिंग जर्जर हालत में है, कब यहां बड़ा हादसा हो जाए कुछ कहा नहीं जा सकता है। ग्राम प्रधान को भी बच्चों की जान की परवाह नहीं है, अगर ऐसा होता तो वो जरुर इस संबंध में अधिकारियों से बात करते। बता दें, गोहटा के इस प्राइमरी स्कूल में करीब 65 बच्चे पढ़ने आते हैं। सभी बच्चे गरीब परिवार से ताल्लुक रखते हैं। शायद इसी वजह से अधिकारियों को इस स्कूल की ज्यादा चिंता नहीं है। क्योंकि यही अधिकारी आजकल बड़े प्राइवेट स्कूलों में मुख्य अतिथि बनकर पहुंच रहे हैं।

सबसे बड़ी बात यह है कि यह मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का गृहजनपद है और अगर गोरखपुर के प्राइमरी स्कूलों का यह हाल है तो बाकी जिलों के स्कूलों का अंदाजा लगाया जा सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here